मैं ही मैं हूँ हर जगह, माँ प्यार ये तेरा कैसा है? - Mother’s Day Poetry Prompt-4

मैं ही मैं हूँ हर जगह
माँ ये प्यार तेरा कैसा है
तूने साँसों की हर डोर में
यूँ बाँध रखा मुझको है
सूरज की तपती धूप में
माँ तूने दिया यूँ छाया है
नदियां की बहती धारा में
माँ तेरा ही सहारा है
अब तुम्ही बता दो माँ मेरी ये
कैसी तुम्हारी अद्भुत माया है!
-राधा शैलेन्द्र


main hee main hoon har jagah
maan ye pyaar tera kaisa hai
toone saanson kee har dor mein
yoon baandh rakha mujhako hai
sooraj kee tapatee dhoop mein
maan toone diya yoon chhaaya hai
nadiyaan kee bahatee dhaara mein
maan tera hee sahaara hai
ab tumhee bata do maan meree ye
kaisee tumhaaree adbhut maaya hai!
-raadha shailendr

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *