Mother’s Day हिंदी Poetry Picture Prompt-5

माँ तेरे रंग जैसा ही है मेरा भी रंग
तू तो सब रंगों में सुन्दर है माँ
तेरे जैसा न कोई है यहां
तू है तो है मेरा जहान
हर पल मुझे संवारा तूने
पल पल रूह से पाला तूने
सिमट जाती हूं तेरे आँचल में
जब जब सताएं काली रातें
अपना सब स्नेह तू मुझ पर वारे
मिल जाते हैं मुझको चमकते तारे
लोरी तेरी में चन्दा मामा जब आए
प्यारी से निंदिया अखियों में मेरी दे जाए।
-हरमिंदर कौर


maan tere rang jaisa hee hai mera bhee rang
too to sab rangon mein sundar hai maan
tere jaisa na koee hai yahaan
too hai to hai mera jahaan
har pal mujhe sanvaara toone
pal pal rooh se paala toone
simat jaatee hoon tere aanchal mein
jab jab sataen kaalee raaten
apana sab sneh too mujh par vaare
mil jaate hain mujhako chamakate taare
loree teree mein chanda maama jab aae
pyaaree se nindiya akhiyon mein meree de jae.
-haramindar kaur


मां तो बस मां होती है
उसके जैसी दूजी कहां कोई होती है
अपने बच्चे को सीने से लगा
उनके सब दुख हर लेती है
जमाने की बुरी नजरों से बचा
उसे आंचल में छुपा लेती है
मां तो बस मां होती है
अपने बच्चों को खाता देख अपना पेट भर लेती है
उसके सपनों की खातिर
अपने जज्बातों को सीने में ही दफना देती है
मां तो बस मां होती है ।
उसके जीवन में ना कोई तूफा़ं आए
हर आंधी से अकेली ही लड़ लेती है
अपने बच्चों के पथ से कांटे हटा
फूलों को बिछा देती है
मां तो बस मां होती है।
बच्चा चाहे कितना भी बूढ़ा हो जाए
उसकी नजर उतारे कहां थकती है
उसकी जीवन रक्षा के लिए काली बन
भगवान से भी लड़ लेती है
मां तो बस मां होती है।
कई बार अपने ही बच्चो से अपमान है सहती
फिर भी ह्रदय में ममता ना कम होने देती है
इसीलिए मां भगवान से भी ऊपर दर्जा पा जाती है
मां तो बस मां होती है
उसके जैसी दूजी कहां कोई होती है।
-ऋतु


maan to bas maan hotee hai
usake jaisee doojee kahaan koee hotee hai
apane bachche ko seene se laga
unake sab dukh har letee hai
jamaane kee buree najaron se bacha
use aanchal mein chhupa letee hai
maan to bas maan hotee hai
apane bachchon ko khaata dekh apana pet bhar letee hai
usake sapanon kee khaatir
apane jajbaaton ko seene mein hee daphana detee hai
maan to bas maan hotee hai .
usake jeevan mein na koee toophan aae
har aandhee se akelee hee lad letee hai
apane bachchon ke path se kaante hata
phoolon ko bichha detee hai
maan to bas maan hotee hai.
bachcha chaahe kitana bhee boodha ho jae
usakee najar utaare kahaan thakatee hai
usakee jeevan raksha ke lie kaalee ban
bhagavaan se bhee lad letee hai
maan to bas maan hotee hai.
kaee baar apane hee bachcho se apamaan hai sahatee
phir bhee hraday mein mamata na kam hone detee hai
iseelie maan bhagavaan se bhee oopar darja pa jaatee hai
maan to bas maan hotee hai
usake jaisee doojee kahaan koee hotee hai.
-rtu

FREE Subscription

Subscribe to get our latest contest updates, FREE Quizzes & Get The KHUSHU Annual RNTalks Magazine Free!

    We respect your privacy and shall never spam. Unsubscribe at any time.

    Similar Posts

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *